शराबबंदी क़ानून एक सराहनीय पहल : दलाई लामा

  • 2017-01-11 02:04:36
  • Faisal Rahmani
  • Chandramani

GAYA : बोधगया में 34वीं कालचक्र पूजा का नेतृत्व कर रहे बौद्ध धर्म गुरु दलाई लामा ने कहा कि शराब का सेवन करने से मन व शरीर का नुक़सान होता है। शराब से बीमारी व अन्य तरह की क्षति भी होती है।

उन्होंने बिहार में शराबबंदी को एक अच्छा क़दम बताया। दलाई लामा ने अन्य देशों से आए श्रद्धालुओं से अपील की कि वे भी शराब का सेवन बंद कर दें। उन्होंने बौद्ध धर्म के उपासकों, उपासिकाओं, भिक्षु व भिक्षुणियों को पंचशील का पाठ पढ़ाया। उन्होंने पंचशील के तहत हत्या, चोरी, व्यभिचार, झूठ व शराब का सेवन वर्जित बताया। उन्होंने कहा कि बिहार में शराबबंदी एक सराहनीय कदम है।
इससे शांति आएगी व नुक़सान को रोका जा सकेगा। शराब पीकर लोग नशे में हो जाते हैं। ग़लत काम करने लगते हैं। इससे समाज को नुकसान होता है। इस कारण किसी की हत्या करने, चोरी करने, ग़लत आचरण, कार्य करने, झूठ बोलने व शराब का सेवन करने वाले पंचशील का पालन नहीं कर सकते। अतः किसी को भी शराब का सेवन नहीं करना चाहिए।  

Leave A comment

यह भी देखें

हजरत पीरमंसूर के मजार पर चादरपोशी को उमड़ी भीड़

GAYA (Dhiraj Sinha) : शहर के नामचीन दरगाह हजरत...