कालचक्र पूजा में पृथ्वी अनुष्ठान नृत्य का आयोजन

  • 2017-01-03 08:24:48
  • Faisal Rahmani
  • Chandramani

GAYA : बोधगया के कालचक्र मैदान में चल रहे 34वें कालचक्र पूजा के दूसरे दिन पृथ्वी अनुष्ठान नृत्य का आयोजन किया गया। नृत्य में हम मानव के धरती से प्यार को दर्शाया गया है। ऐसा मानना है कि पृथ्वी एक शौर्यमंडल का ग्रह है।

जीवन की निरंतरता के लिए महत्वपूर्ण आवश्यकता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए कालचक्र पूजा के दूसरे दिन पृथ्वी अनुष्ठान नृत्य का आयोजन किया गया। देश-विदेश से आए श्रद्धालुओं ने विशेष नृत्य का लुत्फ़ उठाया।
वहीं सुबह से ही कालचक्र मैदान में मंत्रोच्चारण के बीच विश्व में शांति स्थापित करने की विशेष प्रार्थना की गई। इसमें थाईलैंड, जापान, चीन, तिब्बत, अर्जेंटीना, अमेरिका व इंग्लैंड से आये बौद्ध श्रद्धालुओं ने भाग लिया। 

Leave A comment